#Kavita by Mainudeen Kohri

नुवों -साल

~~~  “कविता ”

नुवैं साल री पैली किरण

आच्छो  सन्देशो  लावैली

नित नुवीं  तरक्की करस्यां

भारत ऋ साख जग में छावैली   ।

 

भूखां नैं रोटी , तिस्सां नैं पाणी

अबै मिनखां री आस  जागैली

टाबरां  री किल्कारययां  सूं

स्कूलां सगळी  भर  जावैली  ।।

 

गावं -गावं मोकळी  सुविधावां

सगळा नैं अबै मिळ  जावैली

आतंक रो अंत  करण  सारु

भारत री  जनता आगै  आवैली  ।

 

राज – काज रै भीरष्टिवाडो मिटावण

लोकतन्त्र में जनता आगै आवैली

मूल्यां री गिरावट नैं सुधारण सारु

आच्छे संस्कारां सूं नैतिकता आवैली  ।।

 

पाप  रो घड़ो तो सैंठो  भरग्यो

अबै , कीं आच्छी खबरां आवैली

नूवैं साल  री पैली किरण  अबै

आच्छो- आच्छो सन्देशो  लावैली

 

मईनुदीन कोहरी “नाचीज़ बीकानेरी”

मो. 9680868028

72 Total Views 3 Views Today

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Whatspp dwara kavita bhejne ke liye yahan click karein.