#Kavita By Neeloo Neelpari

पिता की रूह को न चैन, बहन को न करार आया
कैसे सुना माँ ने, बेटी की शहादत का फोन आया
होली के प्रेमसिक्त रंगों के इंतज़ार में नवविवाहिता
कैसे भरेगी मांग जो आतंकवादी सूनी कर आया

बातों से न पेट भरेगा बलिदानियों के परिवार का
सर्जिकल स्ट्राइक बोल मुंह न थकता अहंकार का
आज न दोगे मूँहतोड़ जवाब मोदी जी नरसंहार का
फौज में आगे कौन माँ भेजे लाल अपने जिगर का

संशय में क्यों पड़े, सोच क्या रहे अब तक खड़े
लगवा दो ताले पाक के उच्चायुक्त पर बड़े बड़े
बंद करो आरक्षण, हर परिवार में बीस-पचीस पलें
भेज दो पाकिस्तान, अमन के दुश्मन जो भरे पड़े

छप्पन इंची सीने का, मोदी जी कमाल दिखा दो
मिटा विश्व के नक्शे से पाकिस्तान नाम दिखा दो
खून का बदला खून मांगती हिंदुस्तान की जनता
आतंकवादियों को अब उनकी औकात दिखा दो

🙏शोकसंतप्त डॉ. नीलू नीलपरी 🙏

💐💐वीर जांबाजों की शहादत को नमन और अश्रुपूरित श्रद्धांजलि

2 thoughts on “#Kavita By Neeloo Neelpari

  • February 16, 2019 at 3:27 pm
    Permalink

    विनम्र श्रद्धांजलि

  • February 16, 2019 at 3:32 pm
    Permalink

    विनम्र श्रद्धांजलि

Leave a Reply

Your email address will not be published.