#Kavita by R C Verma

-देश की पहरेदारी

हम सजग देश के प्रहरी हैं.तुम मत मन में घबराना
दुश्मन पर है नजर हमारी.आराम से दीप जलाना ।
पाक और चीन बॉर्डर पर
दिन-रात हमारा पहरा है.
मगर बेवश हैं त्योहारों से
अपना भी नाता गहरा है।

दीपावली की ख़ुशियों में.ना शहीदों की याद भुलाना।
दुशमन पर है नजर हमारी……

हम देश के वीर जवानों ने
वतन पर सब कुर्वान किया.
आंच नहीं देश पर आने दी
खुद को भी वलिदान किया ।

वलिदानी वीरों की याद मे.दीपक तो एक जलाना।
दुश्मन पर है नजर हमारी…..

जब आते हैं त्योहार हमारे
तब-तब दुश्मन टकराते हैं.
बिध्न डालने की आशा में
वो भारत में घुस आते है।
उनको निपटाने का है अपना.हर दिन त्योहार मनाना ।
दुश्मन पर है नजर हमारी……

कवि-आर. सी.वर्मा

Leave a Reply

Your email address will not be published.