#Kavita by Rajeshwari Joshi

आये नवरात्रे मईया दर्शन दो
छोटे छोटे पग मईया आई
मेरे घर
कुमकुम वाले पाँव मईया
आई मेरे गाँव
शेर पे सवार हों के मईया
आई मेरे द्वार
खनखन खनके कँगना माँ
आई मेरे अँगना
बड़ी आशा से देखें मईया
दर्शन दो
आसान लगाऊ मईया बैठों सिंगासन
लाल चुनरी ओढ़ाऊ लाल चुडिया पहनाऊ
नन्हें नन्हें पाँव मैया पायल
पहनाऊं
आशा से मईया तेरी ज्योत
जलाऊ
आरती उतारू मईया हलवा पूरी का भोगलगाऊ
झारी भर लाऊ मईया आचमन कराऊ
बड़ी आशा से देखें मैया
दर्शन दो
दर्शन दो मैया दुख हरलो
आये नवरात्रे मैया दर्शन दो

जय माता रानी की

राजेशवरी जोशी

Leave a Reply

Your email address will not be published.