#Kavita by Rakesh Parihar Ranjha

कहाँ खो गया वन्देमातरम्

============

कोई लिखता शहिदों को

कोई लिखे गाथा वीर की

कोई ना लिखे कहानी

भारत माँ के पीर की

क्यूं ऐसा हो गया धरम

कहाँ खो गया वन्देमातरम्

.

कहने को तो हो गया

अपना देश आजाद

जहाँ दबा दी जाती हैं

बेटियों की आवाज़

क्यूं भारत में वीरों

हो रहा ऐसा करम

कहाँ खो गया वन्देमातरम्

.

मर रहे है युवा

बढ़ रही है बेरोजगारी

पढे लिखे घर बैठे

फैल रही भ्रष्टाचारी

सच की कदर ना यहाँ

राज कर रहे अत्याचारी

अब तो बेंच खायी है शरम

कहाँ खो गया वन्देमातरम

============

रचनाकार

राकेश परिहार

पाली, राज्थान

98 Total Views 3 Views Today
Share This

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *