#Kavita by Ramesh Raj

मुक्तक शैली में तेवरी ||

पीयें ठर्रा-रम बम भोले

हम सबसे उत्तम बम भोले |

जनता से नाता तोड़ लिखें

सत्ता के कॉलम बम भोले |

हम पै कट्टे-बम बम भोले

हम यम के भी यम बम भोले |

बस्ती को क्रन्दन देने को

हम आतुर हरदम बम भोले |

हमसे पेचो-खम बम भोले

आँधी के मौसम बम भोले |

अपना ही नाम ‘ कुशासन ’ है

हमसे ज़िन्दा ग़म बम भोले |

+रमेशराज

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.