#Kavita by Reeta Jaihind Arora

चीनी राखी का बहिष्कार

 

अब की बार राखी पर मैंने लिया प्रण

उस प्रण को पूरा करने का बनाया मन

मैं हिन्दुस्तानी हूँ स्वधर्म निभाऊँगी

चीनी राखी का जमकर बहिष्कार करूँगी

जी जान से जन जन को जागरूक करूँगी

सेना में सैनिक भाइयों से वायदा है

चीनी राखी नहीं मौली बाँधना कायदा है

सीमा पर तुम चीन और पाक निबटा देना

छप्पन इंची सीने का खौफ दिखा देना

इधर हम बहनें देशभक्ति दिखला देंगी

भाई की कलाई पर कलावा ही बाँधेंगी

मिठाई में चीनी घोल  कर पिलाएँगी

मेरे साथ देश की बहनों का काफिला था

सबकी एक ही आवाज एक ही नारा था

चीनी राखी का बहिष्कार देश हमारा है

चाँदी वर्क की मिठाई छोड़ चीनी खिलाइए

रक्षाबंधन पर भारत माता की कसम

चीनियों को भगाइए मिठाई में चीनी लाइए

 

रीता जयहिंद *हाथरसी

113 Total Views 3 Views Today
Share This

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *