#Kavita by S B S Yadvesh

यह मेरा विज्ञान गीत

हर एक काम कर दो विज्ञान के हवाले

उन्नति प्रगति के गुन की कोई खान है तो ये है          पर बांध कल्पना के साकार कर लो सपने

विज्ञान के समुंदर किस्मत को आजमा ले तर्कों की हर कसौटी कोई अटल खड़ा है

काटे न कट सका जो , कोई ज्ञान है तो ये है

हर एक काम कर दो विज्ञान के हवाले……

 

सपनों के रैनबो में , डूबो छुओ चरम को

जीने का राज जानो , भूलो हर एक भरम को

मायूस हशरतों का यह है निदान का घर

भय भूख के हनन का हथियार है तो ये है

हर एक काम कर दो विज्ञान के हवाले ……

 

मजबूत पत्थरों को डायनामाइट तोड़ता है

दुर्गम पहाड़ियों पर नोबेल को भेजता है

लाचार पंगुओं के पैरों का बन सहारा

धन धाम की जुगत का कोई ज्ञान है तो ये है

हर एक काम कर दो विज्ञान के हवाले …..

 

डी एन ए के आयने से , वर्ण भेद नष्ट कर दो

जीवन जिनोम क्या है , जानों ये जानको से

जानोगे तो मिलेगा आपस में भाईचारा

बंधुत्व एकता का कोई राग है तो ये है

हर एक काम कर दो विज्ञान के हवाले

उन्नति प्रगति के गुन की कोई खान है तो ये है

 

यादवेश

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.