#Kavita by Sanjay Ashk Balaghati

गरीब मेहनत- हमाली करता है

अमीर देश की दलाली करता है

अपने मतलब के लिए यहां नेता

भाईचारे की भी हलाली करता है

खाकी-खादी लुट रही है वतन

सीमा पे जवान रखवाली करता है

वो ही जा बैठता है सरकार मे

जो कमाई यहां काली करता है

141 Total Views 9 Views Today
Share This

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *