#Kavita by Sanjay Ashk Balaghati

कभी नक्सली

कभी आतंकी

हमले मे

रोज जवान खो रहे है हम

और सरकार के पास

दो ही बाते है

कडी निंदा

और ठोस कदम।।

बडे से बडे हमले को

जांच के नाम

सिमटा दिया जाता है

जवानो की मौत पे

सियासी खैल

हर बार वहीं डॉयलॉग

देख लेंगे हम”

संजय अश्क बालाघाटी

Leave a Reply

Your email address will not be published.