#Kavita by Sunil Gupta

“बोल ही तो अनमोल”
“बोल ही तो अनमोल,
साथी देखो-
इस जीवन में।
तोल कर बोलो-बोल,
हर पल साथी-
जीवन मे।
मीठे बोल ही तो,
हरते दु:ख अपनो का-
इस जीवन में।
छाती कटुता तन-मन में,
जो बोले विष घोल-
साथी जीवन में।
टूटते संबंधों को भी,
जोड़ देते साथी-
मीठे बोल जीवन में।
बोल ही तो अनमोल,
साथी देखो –
इस जीवन में।।”
ःःःःःःःःःःःःःःःःःः
सुनील कुमार गुप्ता

Leave a Reply

Your email address will not be published.