#Kavita by Yogesh Chaudhary

साहिल पे पहुंचने से इनकार किसे है लेकिन;
तूफ़ान से लड़ने का मज़ा ही कुछ और है;
कहते है, कि किस्मत खुदा लिखता है लेकिन;
उसे मिटा के खुद गढ़ने का मजा ही कुछ और है।…

…… हमने भी कभी प्यार किया था
थोड़ा नही बेशुमार किया था
बदल गयी जिंदगी तब
जब उसने कहा अरे पागल मैने तो मज़ाक किया था…..

Leave a Reply

Your email address will not be published.