#Lekh by Dr. Arvind Jain

छत्तीसगढ़  हाई कोर्ट में हिंदी में होगा काम

रायपुर .छत्तीसगढ़ हाईकोर्ट ने अहम फैसला लेते हुए १२ साल पहले जारी अपना आदेश वापसले लिया हैं .२००४ में जारी सर्कुलर में हाई कोर्ट व हाइ कोर्ट रजिस्ट्री कार्यालय में सिर्फ अंग्रेजी में पत्र व्यवहार का आदेश दिया गया था .इसे वापस लेने से अब न्यायिक अधिकारी व अन्य हिंदी में पत्र व्यवहार कर सकेंगे .इधर हाई कोर्ट ने हाई कोर्ट रजिस्ट्री और सुबोर्डिनटे कोर्ट को पत्रव्यवहार ईमेल से करने को कहा हैं ,

रिटायर्ड चीफ जस्टिस  एवीएस मूर्ति के कार्यालय में अगस्त २००४ में सर्कुलर में सभी न्यायिक अधिकारियों को अंग्रेजी में पत्र व्यवहार करने को कहा गया था . हम हिंदी प्रेमी जनों को इस आदेश के प्रसारित होने पर हाई कोर्ट छत्तीसगढ़ के पार्टी आभार प्रगट करते हुए सभी हिंदी भाषी प्रान्तों में भी इस अनुकरणीय प्रयास का पालन करेंगे .

केंद्र सरकार हिंदी को राष्ट्र भाषा का दर्जा देने में क्यों हिचक रही हैं ,विगत १०० वर्षों से इस मांग की  लड़ाई  लड़ने के उपरान्त कुछ भी हासिल नहीं हो पा रहा हैं यह बड़ी खेद की बात हैं. हमें एक जुट होकर सरकार से इस बात पर गौर करने के लिए प्रयास करना होगा , जय हिंदी ,जय राष्ट्र भाषा .

डॉक्टर अरविन्द जैन प्रान्तीय अध्यक्ष  लेखक प्रकोष्ठ मध्य प्रदेश  एवम शाकाहार परिषद् भोपाल 09425006753

Leave a Reply

Your email address will not be published.