#Lekh by Dr Naresh Sagar

कहां है नारी सम्मा**

जिस देश के नेता , साधु और शिक्षक ही
बलात्कारी हो
और
बलात्कारीयों को सजा भी जाति . धर्म देखकर मुकरर की जाति हो
जहां बलात्कारी . बलात्कार करके स्वयं अपनी विडियों सोशलमीडिया पर पोस्ट करता हो और वह स्वतंत्र घूमता रहे उस देश में नारी जाति कैसे सुरक्षित रह सकती है?
****
नारी को देवी रूप में पूजनें वाले पाखंडी समाज नें नारी जाति का सबसे ज्यादा शोषण किया है!
नारी जाति स्वयं भी उसकी जिम्मेदार है
उसनें भी हमेशा उन्हीं लोगो की पूजा की है जिन्होनें नारी जाति को बदनाम किया है और शोषण किया है !
देश अच्छे दिनों के नाम पर
शोषण का अत्याचार का देश बन गया है!
आज कल सोशल मीडिया पर जो विडियो और तस्वीरे पोस्ट की जा रही है वह बहुत ही निंदनीय है!
एक बूढा टीचर ………चार साल की बच्ची का बलात्कार करता है
***
तीन .चार नाबालिक लडके …….वृद्ध महिला का बलात्कार करते है
तो वहीं
साधु के भेष में सारी ही सीमाऐं तोड दी जा रही है , एक हल्ले के बाद सब कुछ शांत ……क्योंकि इन्ही नालायक साधुओं की कृप्या से कितनें ही हरामखोर, नाजायज बाप की नाजायज पैदाइस नेता भी कितनें बलात्कार करते है!
मैं तो सभी नारी जाति से एक ही बात कहूंगां की उठो और फूलन देवी की तरहा संहार करदो इन हरामखोरों का न्याय की राह मत देखो अपने अन्याय का स्वयं बदला ही ना लो बल्कि अन्यायी का अंत ही कर दो !

नारी कर संहार तू , अब तो अत्याचारी का !
खत्म जड़ से ही करो , नामोनिंशा बलात्कारी का!!
*****
बैखोफ शायर/गीतकार/लेखक ….
*****
डाँ. नरेश कुमार “सागर”
9897907490

Leave a Reply

Your email address will not be published.