#Muktak by Annang Pal Singh

मानव के सब गुणों में , साहस है अति श्रेष्ठ !
और सभी गुण इसीसे , मिल कर करें यथेष्ठ !!
मिलकर करें यथेष्ठ , एक अनुभव है जीवन !
जमकर करो प्रयोग , इसीसे मिले नयापन !!
कह”अनंग”करजोरि , श्रेष्ठता देते अनुभव !
साहस बल भरपूर , श्रेष्ठ वह सबसे मानव !!

**

आशा तत्व असीम है , इसे न छोड़ो मित्र !
भाग निराशा जायगी ,यह विश्वास विचित्र !!
यह विश्वास विचित्र,निराशा को सीमित कर !
और असीमित आश,खींच अपने अंदर भर !!
कह”अनंग”करजोरि,जननि उत्साह प्रयाशा !
हर प्रयाश उत्साह , जगाये अद्भुत आशा !!

**

आत्म साधना ,आत्मबल , पाने हेतु चरित्र !
सबसे उत्तम पंथ है , वह पहचानो मित्र !!
वह पहचानो मित्र , चरित सम्मान दिलाता !
यही आत्म कल्याण ,मार्ग पर लेकर जाता !!
कह”अनंग”करजोरि , यही है मोक्ष साधना !
उत्तम श्रेष्ठ चरित्र , उच्चतम आत्म साधना !!
अनंग पाल सिंह भदौरिया”अनंग”

Leave a Reply

Your email address will not be published.