#Muktak by Annang Pal Singh

जिम्मेदारी स्वयं की ले लो अपने हाथ !
फिर तुम खुद चल पड़ोगे निज सपनों के साथ !!
निज सपनों के साथ,जगेगी उन्नत चाहत !
विकसित होगी प्रवल कामना जो दे राहत !!
कह ंअनंग ंकरजोरि,शक्ति है अंदर भारी !
ले लो अपने हाथ स्वयं की जिम्मेदारी !!
अनंग पाल सिंह भदौरिया ग्वालियर

 

जन्मा हूँ जिस देश में , उसकी शान महान. !
हिमगिरि सा पुण्यात्मा , सुरसरि सा वरदान !!
सुरसरि सा वरदान , महाराणा सा दमखम. !
वीर शिवाजी जैसे योध्दा हैं जग में कम !!
कह ंअनंग. ंकरजोरि,जन्म ले यहाँ अजन्मा !
मैं गर्वित हूँ इसी देश में मैं हूँ जन्मा !!
अनंग पाल सिंह भदौरिया ग्वालियर

 

अगर प्रयोजन में रहे अपना दृढ़ विश्वास !
तो निश्चय कर मानिये बदल जाय इतिहास !!
बदल जाय इतिहास,प्रयोजन लक्छ्य बनाओ !
दृढ़ता वा संकल्प शक्ति अंदर. उपजाओ. !!
कह ंअनंग ंकरजोरि,सफलता देय यह डगर !
प्रवल आत्मविश्वास , प्रयोजन हेतु है अगर. !!
अनंग पाल सिंह भदौरिया ग्वालियर

310 Total Views 3 Views Today

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Whatspp dwara kavita bhejne ke liye yahan click karein.