#Muktak by Annang Pal Singh

सबसे आगे निकलने  का है यही विधान  ।

जोखिम जरा उठाइय़े ,यदि चाहो उत्थान ।।

य़दि चाहो उत्थान , करो साहस का संचय ।

जीवन बने महान , रहो जीवन में  निर्भय़ ।।

कह “अनंग”करजोरि,कह रहे यह सब कबसे ।

साहस शक्ति सहेज , निकलिये आगे सबसे ।।

अनंग पाल सिंह भदौरिया “अनंग”

 

51 Total Views 3 Views Today

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Whatspp dwara kavita bhejne ke liye yahan click karein.