#Muktak by Rajesh Jaiswal

उन्होंने शराब की बुराई  पर एक लेख लिखा,
फिर उसी रात वही शख्स मयखाने में दिखा,
पी रहा बेखौफ आखों में ना थी शर्मो—हया,
कहाअनुभव हो तभीआपको पाऊंगा सिखा।
#########################
🎲राजेश जायसवाल कटनी म.प्र.🎲

Leave a Reply

Your email address will not be published.