#Muktak by Saurabh Dubey Sahil

मुक्तक

खट्टी मीठी यादों का सिलसिला अच्छा रहा ,

उम्र से बडा होता गया पर  दिल से बच्चा रहा ,

तेरे नाम से दुनिया में जो मिला वही झूठा ,

एक तू और तेरा नाम ही हरदम सच्चा रहा।

181 Total Views 3 Views Today
Share This

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *