#Muktak by Jasveer Singh Haldhar

मुक्तक -हलधर

——- ———-

गीत मुबारक होवें उनको बिंदी कुमकुम रोली के ।

आतंकी सायों में कैसे राग सुनाऊँ होली के ।

खबर छपे अखबारों में जब हों विस्फोट बजारों में ,

हलधर “क्यों ना छंद लिखें बारूद तोप औ गोली के ।।

हलधर -9897346173

Leave a Reply

Your email address will not be published.