#Muktak By Jasveer Singh Haldhar

छन्न पकैया -बुरा न मानो होली है
—————————————
1
छन्न पकैया हलधर भैया ,कोमल मन अनुरागी ।
सत्य अहिंसा के झांसे में ,जंग देश को लागी ।।
बोलो सा रा रा रा रा ———–जुगिरा
2
छन्न पकैया हलधर भैया ,मैली होती गंगा ।
गंगा जी में जहर घुला है ,होय न रोगी चंगा ।।
बोलो सा रा रा रा रा ————-जुगिरा
3
छन्न पकैया हलधर भैया ,बजा फौज का डंका ।
पी ओ के जलती देखी ,आतंकों की लंका ।।
बोलो सा रा रा रा रा ————जुगिरा
4
छन्न पकैया हलधर भैया ,घाटी में लाली है ।
सत्तर सालों से खप्पर ले ,घूम रही काली है ।।
बोलो सा रा रा रा रा ———— जुगिरा
5
छन्न पकैया हलधर भैया ,चाटक नभ में टेरे ।
मेघों का आश्वासन झूठा ,बादल आंखें फेरे ।।
बोलो सा रा रा रा रा ———– जुगिरा

6
छन्न पकैया हलधर भैया , चूर कुट सिब्बल मामा ।
अजहर साहब दिखता इनको ,जी दिखता ओसामा ।।
बोलो सा रा रा रा रा ———–जुगिरा
7
छन्न पकैया हलधर भैया ,सिद्धू का हंगामा ।
आतंकी को जी कहते है ,पप्पू पहन पजामा ।।
बोलो सा रा रा रा —————-जुगिरा
8
छन्न पकैया हलधर भैया , मोदी लिया लपेटा ।
ऐसा धोबीपाट मारता ,बाप बचे ना बेटा ।।
9
छन्न पकैया हलधर भैया ,मन की बात सुनाये ।
दुनियां का कद्दावर नेता ,मोदी ही कहलाये ।।
10
छन्न पकैया हलधर भैया ,मोदी आँख मिलाये ।
सम्मुख मोदी को देखे तो ,राहुल आँख दबाये ।।

हलधर -9897346173

Leave a Reply

Your email address will not be published.