#Muktak by Lal Bihari Lal, Lal Kala Manch

मजदूरदिवस पर

लाल बिहारी लाल के  दोहे  :-

दुनिया के हर कामको,देते सदा अंजाम।

चाहे कोई कुछ कहे,लेते नहीं विराम ।1।

इनके ही सम्मानकी बाते करते लोग।

इनके नहीं नसीबमें,जीवन को ले भोग।2।

कहीं तोड़े पत्थरतो, कही तोड़ते हार।

लाल तरस नहीखाये,अजब गजब ब्यवहार।3)

पल-पल करते चाकरी,रोटी खातिर रोज।

लाल जाने कब अइहें,जीवन में सुख भोग।4।

मजदूरों के जोग से दुनियाबने महान।

चाहे बात विनाश कीया हो फिर निर्माण।5।

78 Total Views 6 Views Today
Share This

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *