#Muktak by Ramesh Raj

तीन दोहे**
———————
होना है हर हाल में इन खुशियों का खून
देयर इज एन आलपिन नीयर ए बैलून।
💐💐💐💐💐
त्रासदियों के बीच में उम्र रही यूँ बीत
एज टंग इन दा मिडिल ऑफ क्लैवर टीथ।
💐💐💐💐💐
इस युग में आदर्श का सत् आलोक दिखे न
कल्चर इज मच डस्टफुल टूडे वन्स अगेन।
@रमेशराज

Leave a Reply

Your email address will not be published.