#Muktak by Saurabh Dubey Sahil

~  मुक्तक  ~

 

होंसला हो  लक्ष्य पाने का,

तो रास्तायें बहुत है ,

तू जीतेगा भी जरूर क्योकि ,

साथ में दुआऐं बहुत हैं ।

 

सौरभ दुबे ” साहिल”

Leave a Reply

Your email address will not be published.