#Shayari by Akash Khangar

इंसान है गलतियाँ होना लाजमी है

जो तू न करता गलतियाँ तो तू खुदा होता

जो मैं न करता तो मैं खुदा होता

और ये मुमकिन भी नहीँ

वरना

न हम तुझसे जुदा होते

न तू हमसे जुदा होता…आकाश खंगार

Leave a Reply

Your email address will not be published.