#Shayari by Brijendra Singh Saral

तूने चंदा जुटाया हवन के लिए भूखे बच्चे बिलखते कफन के लिए ।

क्या इन्हीं संग तेरी रूह भी मर गयी जो चला जा रहा चुप भजन के लिए ।।

××××××××

तू न हिन्दू हुआ ना मुसलमाॅ हुआ  , तू न गीता हुआ और न    कलमा हुआ ।

तुझको रव ने बना के बड़ी भूल की ,तू गरीबों को छलने को सलमा हुआ ।।

×××××××

391 Total Views 6 Views Today

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Whatspp dwara kavita bhejne ke liye yahan click karein.