#Shayari by Manju Mittal

अभी से क्यों छलक आये तुम्हारी आँख में आंसू

अभी छेड़ी कहाँ है, दास्ताने – जिन्दगी मैंने,.,!!!

**

कितना मुश्किल होता सच के सचो को जीना

बड़ा अच्छा लगता था बस मुगालतों में जीना

सचों के ख़ौफ़ से बस निकल जाना है

ज़िन्दगी है दोस्तों इसे मुकम्मल जीना है

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.