#Tewari by Ramesh Raj

तेवरी …..

+जन को न रोटी-दाल, जै कन्हैयालाल की!

नेताजी को तर माल, जै कन्हैयालाल की! नीति है कमाल की!!

+टूटती बसें या ट्रेन ये प्रगति देश की

रोज-रोज हड़ताल, जै कन्हैयालाल की! नीति है कमाल की!!

+खुशियों का मानसून अँखियों से दूर है

सूख गये सुख-ताल, जै कन्हैयालाल की! नीति है कमाल की!!

+अब तो बधिक बीच आदमी का सद्भाव

बकरे-सा है हलाल, जै कन्हैयालाल की! नीति है कमाल की!!

+ऊधौ  देश पर आप कर्ज विश्व-बैंक का

लाद-लाद हो निहाल, जै कन्हैयालाल की! नीति है कमाल की!!

+रमेशराज

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.