#Tewari by Ramesh Raj

|| तेवरी ||

अब बन जा तू कान्हा प्यारे

द्रोपदि का चीर बढ़ा प्यारे |

कुछ मात-पिता की सेवा कर

मत केवल गाय बचा प्यारे |

तू सूर्य-पुत्र है कर्ण अगर

धंसना रथ का पहिया प्यारे |

क्या तेरा नाम जटायू है ?

फिर चीख रही सीता प्यारे |

पगले अभेद में भेद न कर

सबको ही मीत बना प्यारे |

+रमेशराज

Leave a Reply

Your email address will not be published.