#Tewari By Ramesh Raj

|| तेवरी ||
गुलशन पै बहस नहीं करता
मधुवन पै बहस नहीं करता

जो भी मरुथल में अब बदला
सावन पै बहस नहीं करता |

कहते हैं इसे न्यूज़-चैनल
ये जन पै बहस नहीं करता |

है इसीलिये वह तहखाना
आँगन पै बहस नहीं करता |

वो बोल रहा है “ ओम शांति “
क्रन्दन पै बहस नहीं करता |

वो करता धड़ से तुरत अलग
गर्दन पै बहस नहीं करता |

वो मौतों का व्यापारी है
जीवन पै बहस नहीं करता |

वो लिए सियासी दुर्गंधें
चन्दन पै बहस नहीं करता |
+रमेशराज

Leave a Reply

Your email address will not be published.